IND vs NZ: हार्दिक पांड्या ने घमंड में चूर होकर तीसरे वनडे के बाद दे डाला बड़ा बयान, जिसे सुन भारतीय फैंस और कप्तान रोहित शर्मा भी हो सकते हैं नाराज

अनुभवी ओपनर रोहित शर्मा की कप्तानी मेंभारतीय टीम ने न्यूजीलैंड को तीन मैचों की सीरीज में 3-0 से हरा दिया. टीम इंडिया ने इंदौर में तीसरा और अंतिम वनडे इंटरनेशनल मैच 90 रनों से जीता. मुकाबले के बाद स्टार ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या ने अपनी बात रखी. हार्दिक ने इस दौरान कुछ ऐसा कहा जो कुछ फैंस को ठीक नहीं लगा. इस स्टार ऑलराउंडर ने मुकाबले में अर्धशतक जड़ा और एक विकेट भी लिया.

रोहित-गिल ने मचाया धमाल

इंदौर में खेले गए मुकाबले में कप्तान रोहित शर्मा ने 101 जबकि शुभमन गिल ने 112 रनों की शानदार पारी खेलीं. इन दोनों ने मिलकर 212 रनों की ओपनिंग साझेदारी की जिसकी बदौलत टीम इंडिया ने 9 विकेट पर 385 रनों का विशाल स्कोर बनाया. इसके बाद कीवी टीम 41.2 ओवर में 295 रन बनाकर ऑलआउट हो गई. प्लेयर ऑफ द मैच शार्दुल ठाकुर रहे जिन्होंने 6 ओवर में 45 रन देकर 3 विकेट लिए. न्यूजीलैंड के लिए ओपनर डेवोन कॉनवे ने 100 गेंदों पर 12 चौके और 8 छक्के लगाते हुए 138 रनों की उम्दा पारी खेली.

जीत के बाद क्या बोले हार्दिक?

जीत के बाद हार्दिक पांड्या ने कहा, ‘मैंने हमेशा नई गेंद से गेंदबाजी का लुत्फ उठाया है. यह मेरे लिए बहुत अच्छा दिन था लेकिन संतुष्टि तब मिलती है जब मैं गेंद को दोनों तरह से स्विंग करा सकता हूं. ये मैंने हाल ही में शुरू किया है, यह वास्तव में मुझे अपनी इनस्विंग में मदद कर रहा है. जैसा कि आप जानते हैं, मुझे हमेशा नई गेंद से गेंदबाजी करने में मजा आता है. जब मैं मैदान पर वापस आया, तो मुझे अपने अलाइनमेंट पर काम करना था. इसने मुझे गेंद को स्विंग कराने में मदद की और अब मैं सीम का इस्तेमाल करने में सक्षम हूं.’

खुद पर ही बोलते रहे पांड्या

हार्दिक ने आगे कहा, ‘इससे पहले मेरे एक्शन का मतलब था कि गेंद लेग के नीचे जाएगी और मैं सीम का इस्तेमाल नहीं कर सकता था. अब मैं पहले से ज्यादा बेहतर गेंदबाज हूं और गेंद को स्विंग भी करा सकता हूं. मैं बहुत अच्छा महसूस कर रहा हूं. खुशनसीब हूं कि शार्दुल ने मुझ पर विश्वास किया. उन्होंने मेरी बात सुनी.’ दरअसल, हार्दिक ने शार्दुल के साथ 7वें विकेट के लिए 54 रन जोड़े. इस ऑलराउंडर के बयान को लेकर कुछ क्रिकेट प्रेमियों को लगा कि वह केवल खुद की ही बात कर रहे थे. सोशल मीडिया पर हार्दिक के आलोचकों को यह बात थोड़ी ठीक भी नहीं लगी. हालांकि हार्दिक खुद के बेहतर होने पर बात कर रहे थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *